आजम खान परेशानी में, विश्वविद्यालय पर चलेगा बुल्डोजर, धराशायी होगी अकड़ , एसडीएम ने जारी किया नोटिस

आजम खान जो हमेशा भड़काऊ बातें करते हैं, हमेशा, अपनी कटू बातों के लिए जाने जाते हैं, आज कानून के शिकंजे में फंसे हैं । समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान की मुश्किलें अभी भी उनके सिर पर मंडरा रही हैं, परेशानी खत्म नहीं हुई हैं. आजम की मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय पर जल्द ही बुल्डोजर चलाया जा सकता है. इसकी पुष्टी रामपुर के उपजिलाधिकारी सदर प्रेम प्रकाश तिवारी ने की है , एसडीएम ने कोसी नदी क्षेत्र में बनी मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी की दीवार तीन दिन में तोड़ने के लिए नोटिस जारी किया है.

आपको बता दें कि थोड़े दिनों पहले एनजीटी ने नदी क्षेत्र में यूनिवर्सिटी के निर्माण को तोड़ने का आदेश दिया था. प्रशासन ने एनजीटी में याचिका दायर की थी कि जौहर यूनिवर्सिटी में कोसी नदी क्षेत्र की जमीन भी शामिल है, जिस पर निर्माण कर लिया गया है. जिस याचिका में यूनिवर्सिटी के कुछ भाग से नदी की धारा प्रभावित होना बताया गया था. इस याचिका पर एनजीटी ने सुनवाई के बाद नदी क्षेत्र से निर्माण हटाने के आदेश दिए थे. एनजीटी के आदेश के अनुपालन में उप जिलाधिकारी ने नोटिस जारी किया है, जिसमें 3 दिन में नदी क्षेत्र पर बनी दीवार को हटाने के लिए कहा गया है.

इससे पहले सितंबर में आजम खान को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राहत देते हुए मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय से संबंधित सभी भूमि मामलों पर अगले आदेश तक आजम के खिलाफ लगाई एफआईआर पर रोक लगा दी थी. कोर्ट ने रामपुर के अजीमनगर थाने में किसानों की ओर से दर्ज एफआईआर में उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगाई थी. इसके अलावा हाईकोर्ट में जस्टिस मनोज मिश्र और जस्टिस मंजू रानी चौहान की डिविजन बेंच ने आजम खान की याचिका पर सुनवाई की और उनके खिलाफ दर्ज 29 मामलों पर स्टे दे दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *