करतारपुर के लिए पासपोर्ट जरूरी, पाक सैना ने इमरान का फैसला नाकारा

कभी कुछ कहता है तो कभी कुछ कहता है, पाकिस्तान अपने बयान अकसर खुद ही बदलता रहता है, बीते कुछ दिनों पहले पाक ने करतारपुर कॉरिडोर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट ना मांगने की बात कही थी, लेकिन आज फिर एक बार, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान फिर झूठे साबित हुए हैं. पाकिस्तानी सेना ने भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट को अनिवार्य कर दिया है.

जी हां करतारपुर कॉरिडोर मामले पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान एक बार फिर झूठे साबित हुए, पाक की सैना ने इमरान खान को झूठा साबित कर दिया है. सेना ने भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट को अनिवार्य कर दिया है, जबकि इमरान खान ने पहले ही उसे खारिज कर दिया था, पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर आने वाले भारतीय श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की जरूरत होगी.

आपको बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक नवंबर को ट्वीट कर कहा था, कि जो भी भारतीय करतारपुर आएगा उसे पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी, उनके पास एक वैध दस्तावेज होना चाहिए, जिससे पता चल सके वो भारतीय है. इसके साथ ही इमरान खान ने कहा था कि श्रद्धालुओं को 10 दिन पहले रजिस्ट्रेशन कराने की बाध्यता से छूट दे दी गई है. इमरान की पासपोर्ट छूट को उनकी सेना ने ही मानने से इनकार कर दिया है.

बदले में भारत सरकार ने कल पाकिस्तान से जवाब मांगा, और स्पष्ट करने को कहा है कि करतारपुर साहिब के लिए पासपोर्ट की जरूरत पड़ेगी या नहीं. बैरहाल भारतीय सुरक्षा एजेंसियां ने सभी भारतीयों को अपने साथ पासपोर्ट ले जाने का निर्देश जारी किया गया था.

अब पासपोर्ट को लेकर ये कन्फ्यूजन बना हुआ है, कि पासपोर्ट अनिवार्य है भी या नहीं, क्योकिं, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के ट्वीट ने पूरी तरह भ्रम की स्थिति उत्पन्न कर दी है कि तीर्थ के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी. ऐसे में श्रद्धालुओं को साफ नहीं है कि तीर्थ के लिए कौन से दस्तावेज साथ ले जाने हैं.

आपको बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर मामले पर भारत पाक के बीच, 23 अक्टूबर को हस्ताक्षर किए गए MoU में साफ तौर पर कहा गया है कि पासपोर्ट जरूरी होगा और 20 डॉलर की फीस हर श्रद्धालु से ली जाएगी. इसमें कोई भी बदलाव, किसी विशेष दिन के लिए भी भारतीय पक्ष को सूचित किए बिना नहीं किया जा सकता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *