कल महाराष्ट्र में होगा फ्लोर टेस्ट, महाराष्ट्र पर सुप्रीम कोर्ट ने कही ये खास बातें

कईं दिनों से अटके महाराष्ट्र मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुना दिया है, कोर्ट ने कहा कल महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस सरकार को बहुमत साबित करना होगा, आपको बता दें महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फडणवीस को आज कोर्ट के फैसले के आने के बाद कल 5 बजे से पहले साबित करना होगा बहुमत, फ्लोर टेस्ट पास करने के बाद ही ये तय हो पाएगा कि कौन होगा महाराष्ट्र का नया चहरा ।

आज सुप्रीम कोर्ट के सुप्रीम फैसले आने के बाद, अब तय हो गया है कि कल महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस सरकार को बहुमत साबित करना होगा, और साथ ही ये भी साफ हो गया, कल महाराष्ट्र में सरकार गठन निश्चय रूप से हो जाएगा । आपको यहा बता दें कि इससे पहले Congress-NCP और शिवसेना की ओर से दाखिल की गई उस याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने आज ये फैसला दिया है । जिसमें बीजेपी और अजित पवार के सरकार बनाने का विरोध किया गया था । कोर्ट ने बीजेपी और अजित पवार को 24 घंटे के अंदर बहुमत साबित करने का आदेश सुनाया है.

महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर को नतीजे आए थे, लेकिन अपनी अपनी सत्ता के लालच में पार्टियों ने सरकार निर्माण नहीं होने दिया, आपको याद होगा, महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मे बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं. बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर बहुमत का 145 का आंकड़ा पार कर लिया था. लेकिन शिवसेना ने 50-50 फॉर्मूले की मांग रख दी जिसके मुताबिक ढाई-ढाई साल सरकार चलाने का मॉडल था. शिवसेना का कहना है कि बीजेपी के साथ समझौता इसी फॉर्मूले पर हुआ था लेकिन बीजेपी का दावा है कि ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ. इसी लेकर मतभेद इतना बढ़ा कि दोनों पार्टियों की 30 साल पुरानी दोस्ती टूट गई. इसके बाद कई दौर की बैठकों के बाद Congress-NCP और शिवसेना ने फैसला किया कि उद्धव ठाकरे की अगुवाई में सरकार बनाई जाए और शनिवार को तीनों दल राजभवन जाकर दावा पेश करने वाले थे. लेकिन बीजेपी ने रात में ही अजित पवार से मिलकर बाजी पलट दी और सुबह 8 बजे ही सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शपथ ले ली उनके साथ अजित पवार डिप्टी सीएम बन गए.
महाराष्ट्र पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की 5 खास बातें
सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच ने आदेश दिया है कि फ्लोर टेस्ट 5 बजे के पहले तक करा लिया जाए
विश्वासमत का परीक्षण प्रोटेम या अंतरिम विधानसभा की अध्यक्षता में की जाए.
सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को निर्देश दिया है कि वह सुनिश्चित करें सभी निर्वाचित सदस्य 5 बजे के पहले शपथ ले लें. विधायकों के साथ ही प्रोटेम स्पीकर भी शपथ लें.
सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने आदेश दिया है कि फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया का Live प्रसारण किया जाए.
सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि वोटिंग में सीक्रेट बैलेट का इस्तेमाल नहीं होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *