पिछले साल भारत था, इस्लामिक स्टेट का निशाना- अमेरिका

दुनिया भर में दहशत फैलाने वाले इस्लामिक स्टेट ने पिछले साल भारत को अपना निशाना बनाया था, इस बात का अनुमान भी भारतीयों को नहीं था, और इस बात की पुष्टी अमेरिकी अधिकारी रसेल ट्रैवर्स ने की । उन्होंने कहा कि आईएस के दक्षिण एशिया स्थित समूह ने भारत में हमले की योजना बनाई थी
वो बोले कि इस समूह ने न्यूयॉर्क में भी हमले की कोशिश की थी, हालांकि एफबीआई ने उसे नाकाम कर दिया
रसेल ट्रैवल ने कहा ‘9/11 हमले के 18 साल बाद भी हम हिंसक चरमपंथी खतरे का सामना कर रहे’
आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने पिछले साल हमारे देश भारत पर हमले की साजिश रची थी, लेकिन विफल रहा आईएस, ये अमेरिका के राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक केंद्र के कार्यवाहक निदेशक रसेल ट्रैवर्स ने मंगलवार को सीनेट में संसदीय कमेटी के सामने यह खुलासा किया। ट्रैवर्स ने बताया कि आईएसआईएस का खोरासान ग्रुप पिछले साल भारत में आत्मघाती हमले करना चाहता था। हालांकि, उसकी साजिश विफल रही।

ये बात ट्रैवर्स ने भारत मूल की सीनेटर मैगी हसन के एक सवाल के संदर्भ में कही । आईएस और उसकी सभी शाखाएं अमेरिका के लिए चिंता का वि।य है ऐसा रसेल ने कहा । आईएस-के ने अफगानिस्तान के बाहर भी हमले का प्रयास किया है। पिछले हफ्ते ट्रैवर्स ने कहा था कि वैश्विक रूप से आईएस की 20 से अधिक शाखाएं हैं, इनमें से कुछ अपने अभियान के लिए ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं।

ट्रैवर्स ने 9/11 हमले को संज्ञान में रखते हुए कहा के 18 साल बाद भी अमेरिका उस हिंसक खतरे का सामना कर रहा है, वो बोले आईएस-के का बड़ा नेटवर्क है, जिसमें हजारों लोगों का हाथ है, और यह दुनियाभर में फैले हुए हैं। हमें उन लोगों से खतरा है जो इराक और सीरिया से भागे हुए हैं। 9/11 के समय की तुलना में अब कहीं ज्यादा कट्टरपंथी हैं। आपको बता दें की अल-कायदा अफगानिस्तान और पाकिस्तान में सक्रिय हक्कानी नेटवर्क और अन्य आतंकी नेटवर्क से लंबे समय से जुड़ा रहा है। ये अक्सर अमेरिकी कर्मियों को निशाना बनाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *