राफ़ेल की पूजा से पाकिस्तान और चाईना के होश उड़े राफ़ेल हुआ अब हमारा

नभ स्पर्शम दीप्तम
ये श्लोक गीता के ग्यारहवें अध्याय से लिया गया है और यह महाभारत के महायुद्ध के दौरान कुरूक्षेत्र की युद्धभूमि में भगवान श्री क्रष्ण द्वारा अर्जुन को दिए गए उपदेश का एक भाग है,, भगवान श्री क्रष्ण, अर्जुन को अपना विराट रूप दिखा रहे हैं और भगवान का यह विराट रूप आकाश तक व्याप्त है, इसी तरह भारतीय वायु सेना राष्ट्र की रक्षा में आसीम शक्ति का प्रयोग करते हुए शत्रुओ का सर्वनाश करने का लक्ष्य तय करती है….और हमारे इन वीरों के पराक्रम को और सशक्त करते हैं कुछ हथियार कुछ लड़ाकू विमान जिनकी मदद से ये वीर, दुश्मनों के होंसले पस्त करते हैं, और तार तार कर देतें है उनके भारत को परहास्त करने के सपनो को, ऐसा ही एक विमान कल भारत को फ्रांस ने सोंपा है, जिसका नाम है, राफैल, आपको बता दें कि भारत और फ्रांस के बीच 36 राफैल विमानों को लेकर 59000 करोड़ रुपयों में समझोता हुआ है…..जिसमे से एक विमान कल भारत को सौंप दिया गया है….आपको बता दे कि भारत कि इस शक्ति को देख कर नतमस्तक हो गया है पाकिस्तान और चीन, इन दोनो ही देशों के पास राफैल को मात देने वाला कोई विमान कोई हथियार नही है, बढ़ चढ़ कर बोलने वाला पाक भी आज खामोश हैं, मानो जैसे सांप सूंग गया हो, और छुप गया है किसी कोने में भीगी बिल्ली बन कर….भारत को गीदड़ भभकी देने वाला पाक के आज होश उड़े हुए हैं…इसी के चलते आपको बता दे कि भारत के रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह देश के पहले रक्षा मंत्री बने जिन्होंने राफैल में बैठ उड़ान भरी….आपको बता दें की 15 मीटर लंबे और लगभग 5.5 मीटर उंचे इस विमान में 1 से 2 फाइटर पाइलेट उड़ान भर सकते हैं, और ओर ये विमान 24500 किलो वजन का पेलोड, लेकर उड़ान भर सकता है….इसकी मारक क्षमता की बात करे तो हवा से जमीन पर वार करने के साथ साथ हवा से हवा में भी सटीक निशाना साध सकता है, इसके अलावा परमाडु हमले एंटी शिप अटैक, क्लोज एयर सपोर्ट, एयर डिफेंस और लेजर निर्देशित लंबी दूरी कि मिसाइल के हमले में भी सक्षम है….देश में इतना बड़ा कोई मुद्दा, हो और उसपर धर्मवाद को लेकर कुर्सी ना गर्माई जाए अब भला ऐसा कैसे हो सकता है, रक्षा मंत्री राजनाथ ने जब विमान पर ओम लिखा तो देश में बैठे कुछ ऐसे आराजिक तत्वों को मिर्ची लग गई, ये वो लोग हैं जो खाते देश का हैं, और गाते धर्म की हैं, दरअसल विमान पर ओम लिखने के मामले पर कुछ मुसलमानों का मानना है, कि जब प्रधानमंत्री मोदी ने देश को समबोधित कर ये कहा था, कि मेरे लिए देश कि 130 करोड़ जनता बराबर है, तो विमान पर ओम ही क्यों लिखा गया…इसपर मोदी अपने मथुरा के भाषण में पहले ही कह चुके हैं कि देश में ऐसे भी कईं धर्म को बांटने वाले सामाज के ठेकेदार बैठे हैं जिनको ओम शब्द सुन कर गौं शब्द सुन कर करंट लग जाता है…..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *