Friday, July 12, 2024
No menu items!
Google search engine
HomeUTTAR PRADESHराजधानी लखनऊ: सरेराह एक शोहदे ने छात्रा पर फेंका एसिड , पुलिस...

राजधानी लखनऊ: सरेराह एक शोहदे ने छात्रा पर फेंका एसिड , पुलिस मुठभेड़ में आरोपी गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चौक में लोहिया पार्क के पास बुधवार यानी कल सुबह सरेराह एक शोहदे ने छात्रा पर एसिड फेंक दिया। छात्रा को बचाने के लिए उसका मौसेरा भाई भी चपेट में आ गया। दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर वहां से पैदल भाग निकला। दोनों को किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के प्लास्टिक सर्जरी वार्ड में एडमिट कराया गया है।

मुठभेड़ में आरोपी गिरफ्तार

डॉक्टरों ने दोनों की स्थिति खतरे से बाहर बताई है। वहीं, देर रात गुलाला घाट के पास पुलिस मुठभेड़ में आरोपी लखीमपुर खीरी निवासी अभिषेक वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके दाहिने पैर में गोली लगी है। DCP पश्चिम दुर्गेश कुमार ने कहा कि पूछताछ में वारदात की वजह पता चल सकेगी।

मौसेरा भाई MBBS का छात्र है

आपको बता दें चौक निवासी एक प्रॉपर्टी डीलर की 20 वर्षीय बेटी बुधवार सुबह साढ़े सात बजे लोहिया पार्क के पास अपने मौसेरे भाई से मिलने गई थी। लखीमपुर निवासी मौसेरा भाई MBBS का छात्र है। वह ई रिक्शा से पार्क तक पहुंची थी। जैसे ही वह ई रिक्शा से उतरकर भाई के आने का इंतजार करने लगी, वैसे ही एक शोहदा आया और उस पर कमेंट करने लगा।

DCP पश्चिम दुर्गेश कुमार ने किया FIR दर्ज 

छात्रा को शोहदा परेशान कर ही रहा था तभी उसका भाई भी आ गया। उसने शोहदे को फटकारा, तो वह वहां से जाने लगा। कुछ दूर जाने के बाद वह तेजी से वापस आया और एसिड फेक दिया। इससे दोनों घायल हो गए। DCP पश्चिम दुर्गेश कुमार ने बताया कि तहरीर के आधार पर FIR दर्ज कर ली गई है। हमलावर की तलाश में तीन टीमें लगाई गई हैं।

पुलिस ने पुरे मामले की सीसीटीवी फुटेज देखे । जिसमें हमलावर चेहरे पर नकाब लगाए पैदल आता नजर आता है। वह छात्रा का पीछा करते हुए वहां पहुंचा था। एसिड फेंकने के बाद वह पैदल ही चौक चौराहे की तरफ भागा। कुछ देर तक वहां पर मौजूद लोग भी समझ नहीं पाए कि आखिर हुआ क्या है। जब तक लोग कुछ समझ पाते, आरोपी वह से भाग चुका था।

दहशत में है पीड़िता

घटना के बाद से छात्रा और उसका भाई डर गए है। इतना सहम गए कि कई घंटे तक दोनों कुछ बोल नहीं पाए। छात्रा के पिता के अनुसार जब बातचीत करने की स्थिति में आई तो उसने अपना चेहरा देखा। चेहरा देख वह सहम गई। जोर-जोर से रोने लगी। वह बोली, मेरा सबकुछ खत्म हो गया, मुझे गोली मार दो। अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस कदर घटना ने उसको झकझोर के रख दिया है।

तीन-चार दिन से अनजान नंबरों से आती थी कॉल

वारदात के बाद छात्रा ने परिजनों को बताया कि अनजान नंबरों से कॉल करने वाला एक शख्स उसको चार-पांच दिन से बहुत परेशान कर रहा था। मैसेज भी करता था। पर, इस बारे में उसने परिजनों को कुछ नहीं बताया। न ही पुलिस से शिकायत की थी। घटना के बाद उसने पूरी बात परिजनों और पुलिस को बताई।

यह भी पढ़े: सीएम योगी ने हाथरस घटनास्टल का किया दौरा, बताया हादसे का कारण

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments