Thursday, April 18, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeशिक्षागणित परीक्षा के डर से 10 वीं के छात्र ने उठाया ऐसा...

गणित परीक्षा के डर से 10 वीं के छात्र ने उठाया ऐसा कदम, कि दो राज्यों की पुलिस हो गई हैरान !

परीक्षा शब्द सुनते ही हर छात्र के चेहरे पर चिंता दिखने लगती है। यह परीक्षा चाहे किसी जॉब के लिए हो या किसी और चीज़ के लिए हो, हर हाल में परीक्षा तो परीक्षा ही होती है। अक्सर इस परीक्षा का सबसे अधिक डर बच्चों में देखने को मिलता है। कभी-कभी यह डर इतना ज्यादा हो जाता है कि बच्चे इसका सामना करने से बचने के लिए कुछ गलत कदम उठा लेते हैं।

हाल ही में इस मामले की जानकारी मध्यप्रदेश के ग्वालियर का सामने आया है, जहां 10वीं क्लास में पढ़ने वाले एक छात्र ने अपने मैथ्स के एग्जाम न देने के लिए ऐसी कहानी बनाई कि दो राज्यों की पुलिस चिंता में पड़ गई। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश की पुलिस 15 साल के छात्र के कारण गुमराह होकर रह गई।

अगवाह करने की सुनाई झूठी कहानी
जानकारी के मताबिक, ये मामला बीते दिन सोमवार को सामने आया, जब ग्वालियर के रेलवे स्टेशन पर RPF के जवानों को 15 साल के एक बच्चे ने ये बताया कि कुछ लोगों ने उसको अगवाह कर लिया था और वह बड़ी मुश्किल से वह उनके चंगुल से जान बचाकर भागा है। अगवाह की बात सुनते ही RPF जवानों के कान खड़े हो गए। इस घटना की जानकारी तुरंत पड़ाव थाना पुलिस को दी गई।

पुलिस जुट गई थी बदमाशों को खोजने में
इसकी जानकारी होते ही पड़ाव पुलिस भी रेलवे स्टेशन पहुंच गई। इसके बाद पुलिस ने जब 15 साल के बच्चे से इस पूरे घटना के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि उसे एक कार मी सवार कुछ बदमाशों ने अगवाह कर लिया था। पुलिस उस समय काफी परेशान हुई, जब बच्चे ने बताया कि उस कार में 3 – 4 बच्चे और भी थे, जिन्हें बदमाश अगवाह कर लाए थे। पुलिस ने जब पूछा कि वह बदमाशों के चंगुल से कैसे बच गया, तो बच्चे ने बताया कि रेलवे स्टेशन के पास बदमाश कार रोककर चाय पीने लगे थे और यही अवसर पाकर वह कार से निकल भागा। पुलिस ने बच्चे द्वारा बताए गए जगह पर पहुंचकर तहकीकात की और CCTV फुटेज खंगाले, लेकिन पुलिस को ऐसा कोई भी सबूत नहीं मिला जो इस घटना की पुष्टि कर पाता।

बच्चे की कहानी में फैला तेल
इसके बाद पुलिस बच्चे की कहानी समझ गई कि बच्चे ज़रूर कोई तेल फैला रहा है। पुलिस ने दोबारा बच्चे से सत्त्वना देकर पूछा कि आखिर असली कहानी क्या है? तो उसके बाद बच्चे ने पुलिस को सारी हकीकत बताई। बच्चे ने बताया कि वह कक्षा 10वीं कक्षा का छात्र है और आज उसका मैथ्स का पेपर है, उसे इस विषय से बहुत डर लगता है और इस कारण वह पेपर नहीं देना चाहता था।

इटावा से आ गया ग्वालियर 
उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के उदी क्षेत्र के रहने वाले 10वीं के छात्र ने बताया कि वह परिवार वालों की डांट नहीं खाना चाहता था, इसलिए उसने यह अगवाह की पूरी झूठी कहानी बनाई। इस मामले की जानकारी मिलने पर पड़ाव थाना पुलिस ने तुरंत इसकी जानकारी इटावा पुलिस को दी और इटावा पुलिस को इस मामले की जानकारी होते ही छात्र के परिवार वाले और इटावा पुलिस ग्वालियर पहुंच गए।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments