Thursday, April 18, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeचुनाव 2024अबतक 8 लोगों के टिकट में फेर-बदल, अखिलेश का इशारा- आगे भी...

अबतक 8 लोगों के टिकट में फेर-बदल, अखिलेश का इशारा- आगे भी बदल सकते हैं उम्मीदवार, जयंत ने कसा तंज !

समाजवादी पार्टी में लोकसभा के घोषित प्रत्याशियों को बदलने की योजना जारी है। ज्ञात हो कि समाजवादी पार्टी ने मेरठ लोकसभा सीट पर प्रत्याशी फिर बदल दिया है। मेरठ लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी ने सबसे पहले भानु प्रताप सिंह को टिकट दिया था। उसके बाद अतुल प्रधान को उम्मीदवार बनाया गया। लेकिन अभी तक यह खबर आ रही है कि सपा ने पूर्व विधायक योगेश वर्मा की पत्नी सुनीता वर्मा को चुनावी मैदान में उतारा है। वहीं समाजवादी पार्टी के इस निर्णय पर अटरूल प्रधान बहुत नाराज हो गए यही नहीं अतुल प्रधान ने विधायकी से भी इस्तीफा देने का मन बना लिया था।

बता दे, अतुल प्रधान की गिनती सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के सबसे करीबी लोगों मे की जाती है। जानकारी के मुताबिक, अतुल प्रधान जाट नेता हैं और उनकी लोकप्रियता युवाओं में काफी ज़्यादा है, फ़िलहाल वह सरधना से विधायक का कार्यभार संभाल रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, अतुल के इस्तीफे की जानकारी जब सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की लगी तो उन्होंने तुरंत अतुल प्रधान से बात की और इस्तीफा न देने के लिए राजी कर लिया। इसके पहले सपा ने मुरादाबाद सीट पर भी अपना उम्मीदवार बदला था।

बता दे, अबतक अखिलेश यादव लगभग 8 टिकट बदल चुके हैं राजनितिक विश्लेषकों के मुताबिक, ये उनकी कमजोरी मानी जा रही है कि पार्टी पर उनका कोई जोर नहीं चल रहा है। कई बार टिकट काटने और परिवर्तित करने से पार्टी काडर का मनोबल भी टूटता है लेकिन अखिलेश यादव कह चुके हैं कि जहां जैसी जरूरत होगी वो टिकट बिना सोचे बदल देंगे।

वहीं मिल रही जानकारी के मुताबिक, योगेश वर्मा सिंबल लेकर हेलीकॉप्टर से लखनऊ से मेरठ के लिए निकल हो चुका है। अखिलेश के इस निर्णय पर अतुल प्रधान ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी है। सोशल मीडिया पर अतुल ने लिखा- जो राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का फैसला है, वो स्वीकार है ! जल्द ही अपने सभी साथियों से चर्चा करेंगे ! #जय_भीम #जय_समाजवाद #इंक़लाब_ज़िंदाबाद

पूर्व मेयर सुनीता वर्मा समाजवादी की लोकसभा प्रत्याशी घोषित की गईं है। हेलीकॉप्टर से योगेश वर्मा को भेजा जा रहा है। योगेश वर्मा को बी फार्म दिया गया। सुनीता वर्मा, पूर्व MLA और दलितों के बड़े नेता योगेश वर्मा की पत्नी हैं। अतुल प्रधान ने बीते दिन बुधवार को नामांकन कर दिया था। समाजवादी पार्टी में चल रही इस फेर-बदल से सपा सुप्रिओ के पूर्व सहयोगी और इंडिया गठबंधन का हिस्सा रहे जयंत चौधरी ने टिकट काटे जाने पर सोशल मीडिया एक्स पर तंज कसा है। उन्होंने अपने एक पोस्ट में लिखा कि विपक्ष में किस्मत वालों को ही कुछ घंटों के लिए लोकसभा उम्मीदवार का टिकट मिलता है।

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments